Pravasam

<p>dead</p>

കൊവിഡ് ബാധിച്ച് നാല് പ്രവാസി മലയാളികള്‍ മരിച്ചു

തമിഴ്നാട് സ്വദേശികളായ സെന്തില്‍ (34), കൃഷ്ണ മുരാരി (49) യു.പി സ്വദേശി ഇഖ്ബാല്‍ അഹമ്മദ് (57) എന്നിവരാണ് മരിച്ച മറ്റ് ഇന്ത്യക്കാര്‍.

<p>covid 19</p>
<p>saudi</p>
<p>dead&nbsp;</p>
<p>air india express</p>
<p>ಆಕ್ಸ್ ಫರ್ಡ್ ವಿವಿ ಮಹತ್ವದ ಹೆಜ್ಜೆಯೊಂದನ್ನು ಇರಿಸಿರುವುದು ವರದಿಯಾಗಿದೆ. &nbsp;ಮಂಗಗಳ ಮೇಲೆ ಪ್ರಯೋಗ ಮಾಡಿದ್ದ ಲಸಿಕೆ ವಿಫಲವಾಗಿದ್ದು ಸುದ್ದಿಯಾಗಿತ್ತು. &nbsp;ಈಗ ಮಾನವನ ಮೇಲೆ ಪ್ರಯೋಗ ಮಾಡಿದ್ದು ಯಾವ ಹಂತದಲ್ಲಿದೆ ಎಂಬ ವಿವರ ನೀಡುತ್ತವೆ. ವಯಸ್ಕರು ಮತ್ತು ಮಕ್ಕಳು ಸೇರಿದಂತೆ &nbsp;ಯುಕೆಯ 10260 ಜನ ಸ್ವಯಂಸೇವಕರನ್ನು ಒಳಗೊಂಡಂತೆ ಪ್ರಯೋಗ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ.&nbsp;</p>
<p>uae covid</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>अमेरिका में पहले वैक्सीन के सक्सेस ट्रायल से जगी उम्मीद&nbsp;</strong><br />
बोस्टन स्थित बायोटेक कंपनी मॉर्डना ने पिछले सोमवार शाम इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों पर mRNA वैक्सीन का ट्रायल किया गया, उनके शरीर में उम्मीद से अच्छी इम्यूनिटी बढ़ी है और साइड इफेक्ट्स भी मामूली हैं। मॉर्डना ने बताया कि वैक्सीन पाने वाले कैंडिडेट्स का इम्यून सिस्टम वायरस से लड़ने में कोविड-19 से रिकवर हो चुके मरीजों के बराबर या उनसे ज्यादा ताकतवर पाया गया। मॉर्डना के सीईओ स्टीफन बैंसेल ने कहा कि वे इससे बेहतर डेटा की उम्मीद नहीं कर सकते थे। गौरतलब है कि मॉर्डना कंपनी ने सबसे पहले वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था।&nbsp;</p>
Air India Express
undefined
<p>expat</p>
<p>डॉक्टर ने बताया कि दो दवाओं के कॉम्बिनेशन से मरीज का इलाज किया गया। पहली दवा है antiprotozoal के तौर पर इस्तेमाल होने वाली मेडिसिन Ivermectin थी। इस दवा के सिंगल डोज के साथ एंटीबायोटिक दवा Doxycycline दी गई। इन दो दवाओं का इस्तेमाल का मरीजों पर काफी अच्छा असर हुआ।</p>
<p>expats return</p>
<p>expats return</p>
<p>Eid Gulf</p>
undefined
<p>namaz woman</p>
<p><strong>fire</strong></p>
<p>विलियम के मुताबिक, चीन समेत कुछ एशियाई देशों ने रणनीति को प्रभावशाली तरीके से लागू किया। जबकि अमेरिका ऐसा नहीं कर पाया। उनके मुताबिक, चीन, द कोरिया, ताइवान कोरोना संक्रमण की दर को रोकने में कामयाब रहे। जबकि, अमेरिका, इटली, यूरोप और ब्राजील इसमें असफल रहे।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>अमेरिका में पहले वैक्सीन के सक्सेस ट्रायल से जगी उम्मीद&nbsp;</strong><br />
बोस्टन स्थित बायोटेक कंपनी मॉर्डना ने पिछले सोमवार शाम इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों पर mRNA वैक्सीन का ट्रायल किया गया, उनके शरीर में उम्मीद से अच्छी इम्यूनिटी बढ़ी है और साइड इफेक्ट्स भी मामूली हैं। मॉर्डना ने बताया कि वैक्सीन पाने वाले कैंडिडेट्स का इम्यून सिस्टम वायरस से लड़ने में कोविड-19 से रिकवर हो चुके मरीजों के बराबर या उनसे ज्यादा ताकतवर पाया गया। मॉर्डना के सीईओ स्टीफन बैंसेल ने कहा कि वे इससे बेहतर डेटा की उम्मीद नहीं कर सकते थे। गौरतलब है कि मॉर्डना कंपनी ने सबसे पहले वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था।&nbsp;</p>
<p>dubai parking&nbsp;</p>
<p>dead&nbsp;</p>
<p>dead</p>
<p>union coop&nbsp;</p>
<p>25 year old expatriate died on covid in UAE</p>
25 year old expatriate died on covid in UAE
<p>dead</p>

Pravasam (പ്രവാസം): Hit the headlines with the Latest Gulf News ഏറ്റവും പുതിയ ഗൾഫ് വാർത്ത and NRI News Updates എൻ‌ആർ‌ഐ വാർത്താ അപ്‌ഡേറ്റ് in Malayalam. Get words on the wire with the latest news about the Non-Resident Keralites News including political news, trending international news, current affairs, top stories and news headlines from Middle East, Saudi Arabia, UAE, Qatar, Oman, Bahrain, and Kuwait online only at Asianet News Pravasam. മിഡിൽ ഈസ്റ്റ്, സൗദി അറേബ്യ, യുഎഇ, ഖത്തർ, ഒമാൻ, ബഹ്‌റൈൻ, കുവൈറ്റ് എന്നിവിടങ്ങളിൽ നിന്നുള്ള വാർത്താ തലക്കെട്ടുകൾ വായിക്കുക.